Saturday, February 9, 2019

गूगल के पहले पेज पर कैसे आये google first page guaranteed 24 hours

दोस्तों समय की अत्यंत कमी होने के चक्कर में साइड को पूरी तरह से नहीं लिख पा रहा हूं तो अभी सिर्फ आपको हिंट दे रहा हूं मैं आपको कि यह शुरुआती 6 बातों का ध्यान रखें इसके अलावा पूरे फेक्टर 200 और और भी गूगल के नए अपडेट करते रहते हैं तो और भी फैक्टर भी जुड़ते जाते हैं हाल फिलहाल में आपको 6 सेक्टर के बारे में बता रहा हूं

1. Trust ( Domain Authority) 

2. Fresh contents

3. CTR

4. Bounce rate

5. Daily Update

6. Backlinks

गूगल के पहले पेज पर कैसे आये  अगर आप ये सोच रहे है तो ऊपर बताई यह 6 बाते सुधार ले

1. Domain Authority यह सर्च इंजन रैंकिंग का स्कोर है जिसे Moz द्वारा बनाया गया है जो एक तरह से यह बताती है की खोज इंजन रिजल्ट्स पृष्ठों (SERPs) पर वेबसाइट कितनी अच्छी रैंक लाएगी। एक डोमेन अथॉरिटी स्कोर 1 से लेकर 100 तक होता है, जिसमें रैंक करने की क्षमता अधिक होती है उसकी डोमेन अथॉरिटी अच्छी होती है ।

डोमेन अथॉरिटी की गणना कई कारकों का मूल्यांकन करके की जाती है, जिसमें रूट डोमेन और कुल लिंक की संख्या को DA स्कोर करने में शामिल है।

आप MozBar (एक निशुल्क क्रोम-एक्सटेंशन), लिंक एक्सप्लोरर { Link Explorer } (एक बैकलिंक विश्लेषण टूल), कीवर्ड एक्सप्लोरर {Keyword Explorer } के SERP विश्लेषण अनुभाग और वेब पर दर्जनों अन्य SEO tool का उपयोग करके एक वेबसाइट का DA देख सकते हैं।

डोमेन अथॉरटी कैसे कैसे स्कोर होती है ?

डोमेन अथॉरिटी (Domain Authority) का स्कोर 100 में से किया जाता है , मतलब जो डोमेन 100 में ज्यादा रैंक करेगा उसकी डोमेन अथॉरिटी ज्यादा होगी। 100 में से 20 या 30 रैंक करना बहुत आसान होता है जबकि 70 या 80 लाने में बहुत मेहनत करनी पड़ती है।

एक “अच्छा” डोमेन अथॉरटी क्या होती है?

सामान्यतया, उच्च गुणवत्ता वाले बाहरी लिंक (जैसे विकिपीडिया या Google.com) की एक बड़ी संख्या वाली साइटें डोमेन अथॉरिटी के पैमाने के शीर्ष स्थान पर होती हैं, जबकि छोटे व्यवसायों और कम बैकलिंक वाले वेबसाइटों में बहुत कम डीए हो सकता है।

नयी वेबसाइटें हमेशा एक के डोमेन अथॉरिटी स्कोर के साथ शुरू होती हैं । क्योंकि डोमेन अथॉरिटी का मतलब किसी साइट की रैंकिंग क्षमता का पूर्वसूचक होना, बहुत अधिक डीए स्कोर होना आपका एकमात्र लक्ष्य नहीं होना चाहिए।

2. Fresh contents फ्रेस कंटेंट्स का मतलब जो आप लिख रहे हो वह अन्य वेबसाइट पर कितनी बार उपलब्ध है अगर उस जैसी जानकारी पहले से है तो फिर वह फ्रेस नहीं मानी जायगी

---- 😢 दोस्तों यह प्रोजेक्ट हाल ही में स्टार्ट हुआ है तो इस पर पूरे आर्टिकल अभी नहीं लिख पाए आगे का यह पड़े
Disqus Comments